Monday, September 21, 2009

तोहफा ..

आज तोहफे मे देखो वो क्या क्या साथ लाए है॥
जुदाई, तन्हाई और थोड़े से आसू साथ लाए है..

आज तोहफे मे देखो वो क्या क्या साथ लाए है॥
बैचेनी, गम और थोड़े से दर्द लाए है..!!.

जी भरता नही जब उनका रुला लेने से मुझे...
शब्दो के वार और थोड़ी सी मेरे अरमानो की खाक लाए है..

आज तोहफे मे देखो वो क्या क्या साथ लाए हे...

निशब्द..मूक खड़ी अभी मैं संभल भी नही पाती॥
वो देखो ज़ख्मी दिल के लिए बेवफ़ाई की सौगात लाए है..

धुआ धुआ कर के दिल अभी सुलगा ही होता है॥
मेरी मोहबत..वो मेरा प्यार, देखो कितना दर्द लाए है..

आज तोहफे मे देखो वो क्या क्या साथ लाए है॥
थोड़े से गम, थोड़ा सा दर्द...थोड़े से आसू साथ लाए है.

3 comments:

sangeeta said...

tohfa kaisa bhi ho khoobsurat hota hai....aur tohfa sambhaal kar rakha jata hai ...to aansoo bhi sambhal kar rakhiye...

dard se bhari khoobsurati se likhi rachna....badhai

Basanta said...

A very beautiful creation!

minty said...

itsa amezing